Loading...
Stella dhinakaran

यीशु में जय!

Sis. Stella Dhinakaran
25 Feb
क्या आप किसी और कई समस्याओं से कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं? क्या आप किसी रोग से ग्रसित हैं? क्या आपका भविष्य अंधकारमय है? याद रखें, हमारे बडे आनन्द के समय और बडी जरूरत के समय हमारा एक आश्रय यीशु है और हम उसकी ओर दौडकर जा सकते हैं। इसलिए व्याकुल न होवें। जीवन में आए अचानक झटकों से युद्ध करने की बजाए उसके वचन पर विश्वास करें, अपना बोझ यहोवा पर डाल वह तुझे संभालेगा; वह धर्मी को कभी टलने न देगा। (भजन संहिता 55:22) परमेश्वर की सहायता से आप सेना पर धावा कर सकते हैं और शहरपनाह लांघ सकते हैं। (भजन संहिता 18:29) भारत के तिरुवल्लूर से श्रीमती प्रेमा विजयानंत की गवाही पढें जिसे प्रभु ने दुखों से छुडाकर आनन्द से भर दिया। 

मेरे परिवार में कई समस्याएं थी कि हमें बिल्कुल भी शांति न थी। एक तरफ से मुझे कम आय से अपने परिवार का पोषण करना था और दूसरी तरफ मुझ पर भाई कर्ज था जिसे चुकाना था। हम ने अपने घर को बनाने से अधूरा छोड दिया था। इसलिए मुझ में हमेशा खालीपन होता थाएक दिन मेरी सहकर्मी ने मेरी चिंताओं के बारे में सुना और उस ने मुझे यीशु बुलाता है प्रार्थना भवन का परिचय दिया और उसने निश्चय दिलाया कि यीशु मसीह मेरे सारे दुखों को आनन्द में बदल डालेंगे। मैं पुराने विचारों के मसीही परिवार से आई थी और मैं यीशु के बारे में जानने की इच्छुक नहीं थी। मैं अकसर वान्रग्रम के यीशु बुलाता है प्रार्थना भवन में जाना शुरु कर दिया। एक दिन जब मैं ने परिवार आशीष सभा में भाग लिया और जब बहन स्टेल्ला दिनाकरन परमेश्वर का वचन बांट रही थीं, उन्होंने कहा, प्रभु तुम्हारे दुखों को आनन्द में बदल डालेगा। जब पवित्र आत्मा का अभिषेक आपको भरेगा तब आप शांति और आनन्द को पाएंगे। उसके बाद उन्होंने गंभीरता से प्रार्थना की और मैं भी एक आशा के साथ प्रार्थना करने लगी कि प्रभु मुझे भी अपने सामर्थ से भरे। उस समय मेरा शरीर कांप रहा था और मैं ने ऐसा अनुभव किया कि मेरे अंदर कुछ बदलाव हो रहा है। जब पवित्र आत्मा का सामर्थ मुझ में भर गया तो उस समय सारा बोझ जो मुझे चोट दे रहा था गायब हो गया और मैं दिव्य आनन्द और शांति से भर गई। उसके बाद मेरे कर्ज का बोझ हल्का हुआ और प्रभु ने हमें अपने मकान को पूरा करने में मदद भी की। 
प्रिय परमेश्वर की संतान, आप हमेशा जयवंत हैं। बाइबल कहती है,क्योंकि जो कुछ परमेश्वर से उत्पन्न हुआ है, वह संसार पर जय प्राप्त करता है; और वह विजय जिस से संसार पर जय प्राप्त होती है हमारा विश्वास है। (1 यूहन्ना 5:4) यीशु ने खुद कहा, ‘‘..संसार में तुम्हें क्लेश होता है, परन्तु ढाढस बांधो,मैं ने संसार को जीत लिया है।’’ (यूहन्ना 16:33) हां, आप किसी भी धधकती समस्या से सही सलामत होंगे क्योंकि उसने आपके अंदर दिव्य बल स्थिर किया है। 
Prayer:
पिता परमेश्वर,

मैं प्रभु को धन्यवाद करती हूं क्योंकि आप ने मुझे उद्धार में चलाया। परमेश्वर की एक संतान के रूप में, मुझे दिव्य स्वभाव दें कि मैं शैतान के सब जलते हुए तीरों को बुझा सकूं। हे प्रभु, मुझे यह याद कराएं कि आप जो मेरे अंदर बसे हैं संसार से बडे हैं और अब जो समस्याओं से मैं गुजर रही हूं उन पर जयवंत कराएं। मुझे अपनी समस्याओं पर जयवंत होने के लिए बुद्धि, बल और कृपादृष्टि दें। मेरे विश्वास और धीरज को बढाएं। मेरी समस्याओं से मुझे बाहर निकलने के लिए मैं कोई भी अभक्ति लोगों की बातों पर कान न लगाऊं। आप तो प्रेमी परमेश्वर हैं जो मेरी विनती को सुनते हैं। आप जिस तरह से मेरी प्रार्थना सुनते और उसका उत्तर देते हैं मुझे अचम्भित होता है। और इस आशा के साथ मैं इस प्रार्थना को यीशु के नाम में, मांगती हूं, आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000