Loading...
Evangeline Paul Dhinakaran

जीवित वचन के दूारा आशीषें:

Sis. Evangeline Paul Dhinakaran
09 Dec
बाइबल को छोडकर कोई ऐसी एक उत्तम पुस्तक नहीं जिसमें परमेश्वर के जीवित वचन हैं। यह परीक्षाओं के समय सचमुच खडा होता है। यह एक अद्भुत पुस्तक है, जो जीवन परिवर्तन का सामर्थ रखती है। जब आप उन वचनों पर भरोसा रखेंगे और यीशु मसीह को अपना व्यक्तिगत उद्धारकर्त्ता स्वीकार करेंगे, ‘‘तो आप ने नाश्वान नहीं पर अविनाशी बीज से, परमेश्वर के जीवते और सदा ठहरनेवाले वचन के द्वारा नया जन्म पाया है।’’ (1 पतरस 1:23) ऐसे एक अविनाशी वचन के द्वारा आपने नया जन्म लिया है, ‘‘जिसने यीशु मसीह के मरे हुओं में से जी उठने के द्वारा, अपनी बडी दया से हमें जीवित आशा के लिए नया जन्म दिया है।’’ (1 पतरस 1:3) आप अपने प्राण से बढकर परमेश्वर के पवित्र वचन पर भरोसा रखें जिसके बारे में बाइबल कहती है, ‘‘घास तो सूख जाती, और फूल मुर्झा जाता है, परन्तु हमारे परमेश्वर का वचन सदैव अटल रहेगा।’’(यशायाह 40:8)

अमेरीका के केलीफोरनीया में एक बडी तराई है। वे उसे ‘‘मृत्यु की तराई’’ कहते है। वे उस तराई को देखने के लिए भी डरते हैं इतना घोर अंधकार होता है। परन्तु कुछ दिनों के बाद वहां पर भारी वर्षा हुई। वर्षा की ऋ तु के बाद जब उन्होंने उस तराई को देखा तो उसमें पौधे, फुल और फल भी लग गए थे। उन्होंने उसे खबरों में दिखाया। सभी को बहुत ताज्जूब हुआ कि, इस मृत्यु की तराई में कैसे इतने फूल और फल लग गए। उन्होंने कहा, इतने सारे बीज इस तराई में होंगे जब बारिश हुई तो उन बीजों से पौधे फूट पडे बडे हुए फूल लगे और इसके अंदर बहुत से बीज भी हैं।
प्रियजन, नए जन्म के बाद कई दृष्टांत हुए होंगे; प्रभु ने अपनी अनन्त प्रतिज्ञाओं के द्वारा आप से बातें की होंगी। उसकी प्रतिज्ञाएं बीज के समान हैं। आज निर्णय कर लें कि इन बीजों को आप अपने हृदय में बोएंगे। आप केवल सुनने वाले नहीं बल्कि वचन पर चलनेवाले बनें। यदि आपके जीवन के कोई भाग में मरी हुई दशा है, तो आप परमेश्वर के वचन पर भरोसा रखें और उसका उच्चारण करें जो अविनाशी बीज हैं। ये बीज फूटकर उसमें से पौधे निकलते हैं फिर फूल खिलते हैं और फल पकते हैं। यशायाह 27:6 के अनुसार ‘‘भविष्य में याकूब जड पकडेगा, और इस्राएल फूले-फलेगा और उसके फलों से जगत भर जाएगा।’’
Prayer:
प्रिय प्रभु,

मैं उन दिनों के लिए पछताती हूं जब मैं लोगों पर और अपनी क्षमताओं पर भरोसा रखती था न कि अविनाशी वचन पर। मैं आपकी उपस्थिति में अपनी मरी हुई दशा को लाती हूं। मैं निर्णय करती हूं कि मैं आपकी सभी प्रतिज्ञाओं को लूंगी और उन्हें मुंह से विश्वास के साथ कहूंगी। मैं विश्वास करती हूं कि मेरा जीवन बहुत ही सुंदरता से फूलेगा फलेगा। आपका वचन कभी भी नहीं बदलता। वो हमेशा पूरा करके ही लौटेगा जिस योजना के लिए मैं ने भेजा है, उसी पूरी करेगा। यीशु के नाम में, मैं प्रार्थना करती हूं,

आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000