Loading...
Paul Dhinakaran

देने का आशीषित कार्य!

Dr. Paul Dhinakaran
26 Jan
परमेश्वर हमें उन जरूरतमंदों को देने के लिए कहता है इसलिए आप के पास जितना है उसमें से हमेशा दूसरों को आशीष देने के लिए आप तैयार रहें।परमेश्वर सभी क्षमताओं और योग्यताओं का स्रोत है जिसे केवल उसकी महिमा के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए। जैसे कि हम परमेश्वर की संतानें हैं इसलिए देना हमारी आदत होनी चाहिए । बाइबल कहती है, ‘‘हर एक जन जैसा मन में ठाने वैसा ही दान करे; न कुढ  कुढ के और न दबाव से, क्योंकि परमेश्वर हर्ष से देनेवाले से प्रेम रखता है।’’ (2 कुरिन्थियों 9:7) प्रभु चाहता है कि हम जरूरतमंद और लाचारों को इस पृथ्वी पर उसके राज्य को बनाने के लिए मदद करें। जितना अधिक आप देंगे उतना ही आप पाएंगें। (लूका 6:38) यह परमेश्वर है जो बढाता है। 

एल क्रेफ्ट जो क्राफ्ट चीस कोओपरेशन का मुख्य था जिसने कई वर्षों तक लगभग 25% अपनी काफी आय मसीहियों को दान में दिया और कहा, मैं ने केवल एक ही निवेश किया है जो पैसे हैं जो मैं ने प्रभु को दिए हैं। जे डी रोकीफेलर ने कहा, मैं ने मैं ने पहले लाखों डॉलरों को दशमांश के रूप में देने को समर्थ हुआ नहीं होता यदि मैं ने अपनी पहली तनख्वाह जो एक सप्ताह की डेढ पांउड थी।

कई करोडपतियों और अरब पतियों ने इतिहास को रिकार्ड किया है जो बडे दानी पुरुष थे। लूका 12:48 में हम पढते हैं, इसलिए जिसे बहुत दिया गया है, उससे बहुत मांगा जाएगा। इसलिए आप के पास जितना है उसमें से हमेशा दूसरों को आशीष देने के लिए आप तैयार रहें।परमेश्वर ने उसकी हर बच्चे में यह पहले से ही उपजा दिया है कि वह दान देने की इच्छा रखे। यह भय है जो आपको ऐसा करने से रोकता है। उस पर विश्वास करके उस भय को झाड दें और दूसरों को देने की आशीष के द्वारा इस नेक कार्य को परमेश्वर की बुलाहट को समझें। आप के लिए बाइबिल की यह प्रतिज्ञा है, उदार प्राणी हृष्ट पुष्ट हो जाता है, और दूसरों की खेती सींचता है, उसकी भी सींची जाएगी। (नीतिवचन 11:25) देने के द्वारा आप के परिवार में बढौती आती है और आपको किसी वस्तु की कमी न होगी। यदि आप सभी भलाई के बारे में सोचेंगे जो अब तक आपने परमेश्वर के हाथ से बहुतायत मात्रा में पाई है तो आप निश्चय जीवित रहना चाहेंगे।

Prayer:

स्वर्ग में प्रिय पिता,

आपकी भलाई, करुणा, अनुग्रह और प्रेम के लिए मैं आपको धन्यवाद करता हूं। सभी योग्यताओं और क्षमताओं से भर आप ने मुझे इस संसार में भेजा।आप ने जो सम्पत्ति दी है उसे मैं अपने सीमित ही न रखूं। मेरे भविष्य के मामले में डर और चिंताओं से मुझे बाहर निकालने में मेरी मदद करें।जीवन की नदी मुझ में और मेरे द्वारा बहे। मुझे अपने परिवार और देश में एक आशीष बनाएं। यीशु के नाम में, मैं प्रार्थना करता हूं,

आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000