Loading...
Paul Dhinakaran

प्रार्थना करें, स्तुति और धन्यवाद दें!

Dr. Paul Dhinakaran
14 May
मेरे अनमोल मित्र, प्रभु ने आज आपकी आशीष के लिए पहले से ही सब कुछ योजना बना ली है। आज आपको जो प्रतिज्ञा दी गई है वह भजन संहिता 45:17 से है, जिसमें भजनकार कहता है, ‘‘मैं ऐसा करूंगा, कि तेरी नाम की चर्चा पीढ़ी से पीढ़ी तक होती रहेगी; इस कारण देश देश के लोग सदा सर्वदा तेरा धन्यवाद करते रहेंगे।’’ मेरे दोस्त, आपको न केवल परमेश्‍वर की आशीष के लिए प्रार्थना करनी चाहिए, बल्कि उसकी स्तुति भी करनी चाहिए। तीसरे, जो कुछ उसने किया है उसके लिए आपको उसका धन्यवाद करना चाहिए। उसकी महिमा, उसकी सामर्थ आदि के लिए उसकी स्तुति करें। साथ ही, आपको उसके लिए धन्यवाद देना चाहिए कि उसने आपको अपने जीवन के हर पल का आनंद लेने के लिए क्या दिया है। तब आपके द्वारा परमेश्वर के नाम की महिमा होगी। तो इन तीनों को याद करें। जब आप प्रतिदिन परमेश्वर की उपस्थिति में आते हैं, तो उसकी स्तुति करें कि वह कौन है।
जैसे ही आप उसे और ऊंचा करेंगे, आप उसे अपने जीवन में एक महान ईश्वर के रूप में अनुभव करेंगे। जैसा कि आप कहते हैं, हे परमेश्वर, आप एक सामर्थी परमेश्वर हैं और आपके पास हर पहाड़ को तोड़ने की पूरी शक्ति है, वह आपके जीवन में एक सामर्थीशाली परमेश्वर के रूप में अपनी शक्ति दिखाएगा और आपके जीवन में हर पहाड़ को तोड़ देगा। जैसा कि आप कहते हैं, मेरे लिए आपके महान प्रेम के लिए प्रभु की स्तुति करता हूं, तब आप अपने मन में उनकी उपस्थिति के आनंद को महसूस करेंगे और फिर उसे इस संसार में जीने के लिए हर चीज के लिए धन्यवाद देंगे। उस परिवार के लिए धन्यवाद जो उसने आपको दिया है और उसे आपके काम के लिए धन्यवाद करें। आपके पास चावल के एक दाने के लिए भी परमेश्वर का धन्यवाद करें, तो परमेश्वर की आशीष आपके जीवन में हर चीज में कई गुना बढ़ जाएगी। जब आप उसको धन्यवाद देते हैं, तो परमेश्वर का अनुग्रह कई गुना और बढ़ जाएगा और आपके पास संसार की हर चीज में पर्याप्तता होगी और आपके पास परमेश्वर के साथ अपनी आत्मिकता में चलने में भी पर्याप्तता होगी। तीसरा, उसके बाद, परमेश्वर से प्रार्थना करें, उसकी इच्छा आपको दिखाने के लिए प्रार्थना करें। जब आपके जीवन के किसी भी क्षेत्र में समस्याएँ हों, तो परमेश्वर से उसके विषय में अपनी इच्छा दिखाने के लिए कहें, और प्रभु उसे दिखाएगा। जैसे आप उसकी इच्छा पूरी करेंगे, तो परमेश्‍वर आपके साथ काम करेगा, और आपके लिए सब कुछ परमेश्वर की सामर्थ से पूरा होगा। परमेश्वर आपको अपनी इच्छा पूरी करने और आशीषित होने का अनुग्रह देगा।
Prayer:
मेरे प्यारे स्वर्गीय पिता,

आज की प्रतिज्ञा के लिए धन्यवाद। पिता, मैं आपकी स्तुति करता हूं क्योंकि आप पराक्रमी, सामर्थीशाली, दयालु और अनन्त हैं। हे पिता, आपने मेरे जीवन में जो भी आशीर्वाद दिया है, उसके लिए मैं आपको धन्यवाद देता हू्ं। पिता, आप उन जरूरतों और परीक्षाओं को जानते हैं जिनसे मैं गुजर रहा हू्ं। हे प्रभु, मुझे उनके विषय में अपनी इच्छा दिखाएं, उसे पूरा करने में मेरी सहायता करें, और अपने नाम की महिमा करें। यीशु के नाम में,

मैं प्रार्थना करता हूँ, आमीन।

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000