Loading...
Dr. Paul Dhinakaran

नई सृष्टि!

Dr. Paul Dhinakaran
11 Jun
हमारे जीवन के मामलों में केवल परमेश्वर ही हर कार्य में नियंत्रण रखता है। वह निर्णय लेता है कि हम हर दिन क्या सामना करनेवाले हैं। हम में से कई लोग इस बात को नहीं जानते। हमें हर दिन का सामना परमेश्वर के इस ज्ञान के साथ करना चाहिए कि वह सब चीजों पर नियंत्रण रखता है। जब हमें यह विवेक होता है तो हम अपने आप सुबह सवेरे परमेश्वर की ओर देखते हैं और उसकी आशीषों के लिए उस दिन को उसके हाथों में समर्पित करते है। हमें परमेश्वर के वचन को भी प्रतिदिन पढना होगा जिससे कि हम उस दिन के मामले में परमेश्वर जो कहना चाहता है, सुनें। जब हम उस पर भरोसा रखते हैं तो वह हरी हरी चराइयों और सुखदाई जल के पास ले जाने की अगुवाई करता है। यही एक मार्ग है जिससे वह हम को संकटों से बाहर रखता है। परमेश्वर हमें देखी अनदेखी विपत्तियों से बचाकर रखता है। जब हम यह जानेंगे कि परमेश्वर हमारे आगे चल रहा है और जो हम सामना करेंगे वो उसके लिए आश्चर्य न होगा और हम चैन से रहेंगे। इससे हमारे मन में शांति के बने रहने से वह हमारी मदद करता है। तब चाहे हम कैसी भी परेशानी से गुजरें परन्तु हमें यह पता होगा कि यह परमेश्वर की ओर से है। 

बहुत ही पहले की बात है एक व्यक्ति रहता था जो राजमिस्री का काम करता था। वह हमारे प्रभु यीशु को नहीं जानता था। वह अपने लिए एक घर बनाने की योजना बना रहा था परन्तु उसे अचानक दिल का दौरा पडा। उसने अपनी सारी कमाई अपने इलाज में लगा दी। इसके कारण उसक अकर्जा एक पहाड की तरह बढता गया। वह एक निराशामय स्थिति में था और उसने शराब पीनी शुरु कर दी। डॉक्टरों ने कहा कि वह अब से काम करने नहीं जाना पडेगा। दुर्भाग्यवश से उसकी पत्नी को दूसरों के घर में काम करना पडा और उसकी बेटी ने अपनी पढाई आधे में ही छोड दी। वह बहुत ही गरीब हो गया। उसे नकारा गया और इस हर दिन के अपमान की वजह से वह खुद को मार डालना चाहता था। परन्तु यीशु ने उसका अपमान देखा और कहा, ‘‘मैं तुम्हें अब परिवर्तित और चंगाई देता हूं।’’ उसके बाद उसका सारा जीवन बदल गया। उसने शराब पीना छोड दिया और यीशु को अपने हृदय में स्वीकार किया। यीशु ने फिर से उसका जीवन बनाया।
हां, मेरे मित्र, यीशु जो आपके जीवन का मुख्य कोने का पत्थर है वह उसे बनाएगा। वह कहता है, ‘‘मेरे बच्चे, यदि संसार तुम्हें नकारे, तौभी मैं तुम्हें न नकारूंगा। तुम परमेश्वर के राज्य में मेरे साथी नागरिक होगे। मैं तुम्हारे जीवन को फिर से बनाऊंगा और उसमें वास करूंगा। आज ही मुझे ग्रहण करो।’’ प्रियजन, आज ही यीशु को ग्रहण करें और उस पर अपना जीवन बनाएं। यह जान लो कि परमेश्वर ने सब कुछ ऐसा बनाया है कि अपने अपने समय पर वे सुंदर होते हैं। (सभोपदेशक 3:11) यदि वह आपको दीन करता है तो वह अपने समय में आपको आदर दिलाएगा। यदि हम आपको तोडे तौभी वह आपको बनाएगा। आप ऐसे स्थिति में कभी नहीं होंगी कि परमेश्वर उसे बदल न सके। वह लंगडे को चलाता और अंधों को दृष्टि देता है। वह आपको भी चंगा कर सकता है। जैसे उसने कौओं के द्वारा एलिय्याह को खिलाया। उसने जैसे ईजबेल के क्रोध से भविष्यद्वक्ताओं की रक्षा की, वैसे ही वह आपको सभी खतरों से बचाएगा। वह आपको सभी खतरों से रक्षा करेगा। यदि आपको एक नए जीवन की जरूरत है तो केवल एक चीज को बदलना है, वह हैं आप। ‘‘इसलिए कोई मसीह में है तो वह नई सृष्टि है: पुरानी बातें बीत गई हैं; देखो, सब बातें नई हो गई हैं।’’ (2 कुरिन्थियों 5:17) इसलिए यदि परमेश्वर आपके पुराने जीवन से प्रसन्न नहीं है उसे आप छोड दें और एक नए व्यक्ति बन जाएं। तब परमेश्वर आपके लिए चमत्कार करेंगे। आप फिर से समृद्ध होंगे। 
Prayer:
प्रेमी स्वर्गीय पिता,

नए जीवन को देने और उसका आनन्द उठाने के लिए आपको धन्यवाद। मेरे पापों को क्षमा करें और मुझे एक नया व्यक्ति बनाएं। इस दिन और आपके वचन के लिए धन्यवाद जिसको आपने मेरे जीवन को फिर से बनाया। मुझे संसार की लालसाओं से बचा कर रखें। हर दिन आपको गंभीरता से खोजने के लिए मेरी मदद करें। मेरे दिन को आशीष दें और मेरे इस दिन के कार्यों की परिस्थितियों के साथ तालमेल करें जिससे कि मैं पहले से भी अधिक समृद्ध हो जाऊं। मुझे और मेरे परिवार को सुरक्षित रखें। यीशु के नाम में, मैं प्रार्थना करता हूं,

आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000