Loading...
Paul Dhinakaran

दीर्घायु आशीषें!

Dr. Paul Dhinakaran
30 May
प्रिय मित्र, आज के दिन की परमेश्वर की प्रतिज्ञा यशायाह 54:8 से ली गई है, ‘‘परन्तु अब अनन्त करुणा से मैं तुझ पर दया करूंगा, तेरे छुडानेवाले यहोवा का यही वचन है।’’ यह मात्र भाषा के अनुवाद में इस प्रकार कहा गया है कि अनन्त करुणा से मैं तुझ पर तरस खाऊंगा। परमेश्वर एक ऐसा परमेश्वर है जो हम पर दया करता रहता है। जब हम मन फिराएंगे, तब वह आता है और हमें गले लगाता है और फिर से अपनी गोद में बैठाता है। जब हम उसे क्षमा मांगते हैं तब वह हमें अपने लहू से धोता है और हमें शुद्ध करता है। उसके बाद वह हमें अपने स्वरूप में परिवर्तित करता है और हमें सोने के समान बनाता है।
 
कोई भी मनुष्य हमारे विरुद्ध दोष नहीं लगा सकता। परमेश्वर को उसकी करुणा के लिए धन्यवाद। उसकी करुणा के कारण हम मर मिट नहीं गए। हर सुबह उसकी करुणा हमें परिवर्तित करने के लिए नई होती जाती है और हमें उसकी गोद में बनाए रखती है। तभी तो वह कहता है, यदि तुम मुझे भोर को खोजोगे तो मैं तुम्हें मिलूंगा। परमेश्वर हर सुबह अपनी नई करुणा दिखाने के लिए तैयार रहता है और वह अपने स्वरूप में सोने के रूप में परिवर्तित करता है। इसलिए आप कभी यह न कहें, परमेश्वर मुझ पर क्रोधित है। मीका 7:18 कहता है, ‘‘तेरे समान ऐसा परमेश्वर कहां है जो अधर्म को क्षमा करे और निज भाग के बचे हुओं के अपराध को ढांप दे? वह अपने क्रोध को सदा बनाए नहीं रहता, क्योंकि वह करुणा से प्रीति रखता है।’’
भजन संहिता 30:5 कहता है, ‘‘क्योंकि उसका क्रोध तो क्षण भर का होता है, परन्तु उसकी प्रसन्नता जीवन भर की होती है। कदाचित रात को हमें रोना पडे, परन्तु सवेरे आनन्द पहुंचेगा।’’ दूसरा अनुवाद यह कहता है, उसकी कृपादृष्टि हमें दीर्घायु देती है। यह परमेश्वर की कृपादृष्टि है। यीशु आप से प्रेम करता है। वह आप से क्रोधित नहीं है। आज भी उसकी करुणा नई है। वह आप से प्रेम करता है। उस की ओर फिरें। वह आप को दीर्घायु आशीषें देगा। आप नहीं मरेंगे परन्तु आप सदा उसकी करुणा और प्रशंसा को घोषित करने के लिए जीवित रहेंगे। ‘‘पर तुम एक चुना हुआ वंश, और राज-पदधारी याजकों का समाज, और पवित्र लोग, और परमेश्वर की निज प्रजा हो, इसलिए कि जिसने तुम्हें अंधकार में से अपनी अद्भुत ज्योति में बुलाया है, उसके गुण प्रगट करो।’’ (1 पतरस 2:9) आप विशेष हैं और आपको इस संसार से कहना है कि आप परमेश्वर के कितने विशेष हैं। इस तरह से आप अपने जीवन में अपनी योजना को पूरा करेंगे। आशीषित हो।
Prayer:
प्रेमी पिता,
 
आज मेरे जीवन में आपकी नई दया बहने पाए। मुझे गले लगाएं। आपकी प्रतिज्ञा जो आप मुझ से प्रेम करते हैं और मुझ पर अनन्त करुणा से प्रेम करते हैं, उसके लिए आपको धन्यवाद। हे प्रभु, मुझे बदलें जिससे कि मैं हर समय तेरी स्तुति करता रहूं। मुझे अपने जीवन के सारे आनन्द से दीर्घायु जीने में मेरी मदद करें। यीशु के अनमोल नाम में,

मैं प्रार्थना करता हूं, आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000