Loading...

परमेश्वर के सामर्थी हाथ!

Shilpa Dhinakaran
13 Jun
क्या आप ने उन लोगों को कसरत करते देखा है? वे वास्तव में अपनी मांसपेशियों को बल देने के लिए अभ्यास करते हैं। वे अपने बल को दिखाने के लिए अपनी भुजा की मांसपेशियों को दिखाते हैं। हां, भुजा का अर्थ बल है। तदि आपके पास बल है तो तभी आप चीजों को उठा सकते हैं और अपने दैनिक कामों को कर सकते हैं। जो लोग भारी बोझ उठाते हैं उनके हाथों में बहुत ही बल होता है। यदि एक साधारण मनुष्य के हाथ में इतन अबल हो सकता है तो परमेश्वर के हाथ में कितना अधिक बल होगा? बाइबल कहती है, ‘‘यहोवा का दाहिना हाथ महान हुआ है, यहोवा के दाहिने हाथ से पराक्रम का काम होता है।’’ (भजन संहिता 118:16) परमेश्वर का हाथ हमेशा विजय लाता है। यह जय का चिह्न है। यह एक महिमामयी कार्य हैं और केवल भले कार्य। क्या आप ने यह गीत सुना है, ‘उसके हाथ में सारा संसार’ परमेश्वर के सामर्थ कितना सच है!

मेरी दादी मां जो 85 वर्ष की हैं, वे खुद चल फिर सकती हैं। फिर भी यदि उनके पास से कोई गुजरता है तो वह उनके हाथ सुरक्षा और आत्मविश्वास के लिए थाम लेती है। जब वे किसी को पकड कर चलती है तो वह खुद को सुरक्षित समझती है। जब वे किसी व्यक्ति की सहायता लेती है तो उनके अंदर गिरने का डर दूर हो जाता है। इसी तरह से हमारे हाथ दूसरों को बल देते हैं। बच्चा भी अपने माता पिता के हाथों में सुरक्षित रहता है। यदि आप किसी अनजान व्यक्ति के हाथ में अपने बच्चे को देते हैं तो वह रोना शुरु कर देता है क्योंकि उन्हें स्पर्श की भिन्नता का अनुभव कर सकते हैं। उनके माता पिता के हाथ उन्हें दिलासा और निश्चयता देते हैं और जब वे उनके द्वारा उठाए जाते हैं तो उन्हें बहुत आनन्द मिलता है। वे खुद को भूल जाते हैं और वे उनकी बांहों में कई स्थानों में जाने का आनन्द उठाते हैं। जब वे अपने माता पिता पर चढते हैं तो वे अपनी परवाह उन पर रख देते हैं। हमारा स्वर्गीय पिता भी अपने हाथों से पूरे संसार को उठाता है खासतौर से हम सभी को।
हां, आज परमेश्वर आप से वायदा करता है कि उसके हाथ उसे बनाए रखते है और उसकी भुजा के बल से हम बल पाते हैं। आपके इसके बावजूद दूसरे आधार की जरूरत है। परमेश्वर का सामर्थ आपके अंदर है। आप साहस के साथ कहें, ‘‘जो मुझे सामर्थ देता है उसमें मैं सब कुछ कर सकता हूं।’’(फिलिप्पियों 4:13) आपकी निर्बलता में परमेश्वर का अनुग्रह काफी है और हमारी निर्बलता में जो आप कठिन समझते हैं, उसका सामर्थ सिद्ध होता है। यशायाह 49:16 के अनुसार परमेश्वर कहता है,‘‘देख, मैं ने तेरा चित्र अपनी हथेलियों पर खोदकर बनाया है; तेरी शहरपनाह सदैव मेरी दृष्टि के सामने बनी रहती हैं।’’ वह हर समय अपने हाथों में आपको रखता है। वह एक पल के लिए भी अपनी आंखें टस से मस नहीं करता और हर समय आपको देखता रहता है। इसलिए हम नहीं मर मिटे हैं। वह हमेशा अपने हाथों के द्वारा हमें पकडे रहता है और हमारी मदद करता है। वह कहता है, मैं तुझे दृढ करूंगा; तेरी सहायता करूंगा; अपने धर्ममयी दाहिने हाथ से तुझे सम्भाले रहूंगा। (यशायाह 41:10) उसका हाथ आपकी सहायता करने के लिए हमेशा तैयार रहता है। क्या आप उसके बल पर निर्भर होकर अपने हाथों से उसकी सेवा करेंगे? निश्चय आप परमेश्वर के लिए बडे बडे कार्य करेंगे?
Prayer:
प्रेमी प्रभु यीशु, 

आपकी प्रतिज्ञा के लिए धन्यवाद कि आपका हाथ मुझे बनाए रखेगा। हे प्रभु, मुझे अपने हाथों में खोद कर बनाने और हर समय मुझ पर दृष्टि रखने के लिए मैं आपको धन्यवाद देती हूं। आप मुझे बल देंगे और मेरे लिए सब कुछ पूरा करेंगे, इस प्रतिज्ञा के लिए आपको धन्यवाद। आपके लिए बेमिसाल कामों को करने के लिए मुझे अनुग्रह दें। मेरे हाथों को हमेशा बलवंत करें कि मैं आपके कामों को कर सकूं। मैं आपके मधुर नाम में, मांगती हूं,

आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000