Loading...
Evangeline Paul Dhinakaran

परमेश्वर का प्रेम और करूणा!

Sis. Evangeline Paul Dhinakaran
11 Jun
मसीह में अतिप्रिय, 

प्रभु ने यिर्मयाह को चुना जो विलापी भविष्य के नाम से भी जाना जाता है। उसने परमेश्वर से उन लोगों के लिए प्रार्थना किया कि वे पाप से फिरे। वह यीशु की तरह प्रेम, करूणा और साहस से भरपूर था और उसने बडी करूणा से लोगों के लिए लिए प्रभु को पुकारा। उसके साथ साथ हमारे जीवनों में जो कुछ भी आए उसे मसीह में विश्वास के द्वारा साहस के साथ सामना करना चाहिए। 

कभी कभी हम अनुभव करते हैं कि कोई भी हमारी मदद नहीं कर रहा है और हम बिलकुल अकेले हैं। प्रभु हमें उन परिस्थितियों से गुजरने देता है जिससे कि हम खुद को यीशु के पराक‘मी हाथों के नीचे दीन बने। जैसा कि बाइबिल कहती है कि वह आपको ऊँचा उठाएगा। इसलिए परमेश्वर के बलवंत हाथ के नीचे दीनता से रहो, जिस से वह तुम्हें उचित समय पर बढाए। (1 पतरस 5ः6) प्रभु ने कहा, तू सींची हुई बारी और एक ऐसे सोते के समान होगा जिसका जल कभी नहीं सूखता। आप अपने आनन्द को को प्रभु में पाएँगे और मैं तुझे तेरे पिता याकूब की 
विरासत की उपज खिलाऊँ गा और तुझे भूमि के ऊँ चे स्थानों पर सवार कराऊँ गा। तुम केवल प्रभु में आनन्द पाओगे न कि किसी मनुष्य में। आइए हम उसके वचन को थामे रहें। तुम्हें इस संसार में क्लेश होगा परन्तु ढाढस बाँधो। प्रभु ने संसार को जीत लिया है और आप जयवंत से बढ़कर होंगे।


प्रभु ने यिर्मयाह से पूछा कि क्या वह उसके लिए खड़ा रहेगा? प्रभु ने आपको उसके राज्य को बोने और बनाने के लिए बुलाया है क्योंकि प्रभु ने आपको पवित्र आत्मा से भर दिया और इसलिए आपको कोई चीज हिला नहीं सकती। हम किसी से नहीं हिलेंगे और हम किसी मनुष्य से कभी नहीं घबराएँगे, हम चलते रहेंगे और आगे बढ़ते रहेंगे। 

जैसे कि प्रभु ने यिर्मयाह के होठों को छुआ और उससे बात कराई, प्रभु का हाथ आपको भी छुएगा। जो परमेश्वर यिर्मयाह और मूसा के संग था वह आपके साथ भी है। इस्राएल का राजा हमारे बीच में है। हम कभी भी निराश न होवें क्योंकि इस्राएल का परमेश्वर हमारे बीच में है। आप उत्साहित हो जाइए क्योंकि वह आपको उसके वचन का प्रचार करने के लिए सिंह के समान साहस देगा। आइए हम उसके लिए अंतर में खड़े हो जाएँ और हम अपनी असिद्धता को हममें उसके कार्य की सीमा को रोकने का कारण न बनाए। ‘‘तेरा परमेश्वर यहोवा तेरे बीच में है, वह उद्धार करने में पराक‘मी है।’’ (सपन्याह 3:17)  
Prayer:
हे प्रभु, मुझे आपके पराक‘मी हाथों के नीचे दीन बने रहने में मेरी मदद कर। मेरे साथ रह और आपके वचन का प्रचार करने के लिए मुझे साहस प्रदान कर। मेरे जीवन की सारी समस्याओं का विश्वास के द्वारा साहस के साथ सामना करने में मदद कर। यीशु मसीह के नाम में मैं यह प्रार्थना करता/करती हूँ। आमीन्!  

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000