Loading...
Samuel Paul Dhinakaran

अनुग्रहकारी परमेश्वर!

Samuel Dhinakaran
26 Nov
प्रिय मित्र, क्या आज आप परमेश्वर की प्रतिज्ञा को जानने के लिए तत्पर हैं? आज के दिन के लिए परमेश्वर की प्रतिज्ञा यशायाह 30:18 से लिया गया है, ‘‘तौभी यहोवा इसलिए विलम्ब करता है कि तुम पर अनुग्रह करे, और इसलिए ऊंचे उठेगा कि तुम पर दया करे क्योंक़ि यहोवा न्यायी परमेश्वर है; क्या ही धन्य हैं वे जो उस पर आशा लगाए रहते हैं।’’ हां, सचमुच परमेश्वर अपना अनुग्रह आप को दिखाना चाहता है।
 
आज, शायद आप ऊंचे पद पर होंगे, आप वहां पर अकेले होंगे, आप शायद अन्याय का सामना करते होंगे, आप शायद उन लोगों से संघर्ष कर रहे होंगे जिन्होंने आप से छल किया है, शायद आपका हृदय टूट गया होगा, वहां पर आप किसी की मदद को खोजते हुए अकेले कई संघर्षों का सामना कर रहे होंगे परन्तु कोई भी आपकी मदद करने के लिए आगे नहीं आ रहा है और शायद आप एक कोने में यह कह रहे होंगे, मैं इस परिस्थिति में क्या करूं? परन्तु अगले वचन में यशायाह 30:19 कहता है, ‘‘तुम फिर कभी न रोओगे, वह तुम्हारी सुनते ही तुम पर निश्‍चय अनुग्रह करेगा: वह सुनते ही तुम्हारी मानेगा’’ क्योंकि मेरे मित्र, वह आपके बारे में चिंता करता है, वह आपकी मदद करेगा।
इस पल केवल आप उसे अनुमति दें और वह अपने सब अनुग्रह के साथ आएगा, इस दुख से ऊपर आपको उठाएगा और आप को एक रास्ता दिखाएगा। बाइबल में जब मूसा ने लाखों इस्राएलियों को लाल सागर को पार कराया, मिस्री उनका पीछा कर रहे थे और उन्हें मारने और नष्ट करने के लिए पीछा कर रहे थे। इस तरह वे निराश हो गए थे। उन्हें आगे जाने का कोई मार्ग नहीं था। मूसा ने प्रभु यहोवा को पुकारा और प्रभु ने निर्गमन 14:15, 16 में कहा, ‘‘तू क्यों मेरी दोहाई दे रहा है? इस्राएलियों को आज्ञा दे कि यहां से कूच करें और तू अपनी लाठी उठाकर अपना हाथ समुद्र के ऊपर बढा, और वह दो भाग हो जाएगा; तब इस्राएली समुद्र के बीच हो कर स्थल ही स्थल पर चले जाएंगे।’’ हां, परमेश्वर ने कहा, ‘‘मैं तुम लोगों को समुद्र के बीच में से चलाऊंगा।’’ जहां कहीं भी कोई रास्ता न हो वह पर परमेश्वर का सामर्थ आएगा और आपके लिए एक नया मार्ग उत्पन्न करेगा। यही तो परमेश्वर का सामर्थ है और आज वह आपको अपना अनुग्रह दिखाएगा और आपके लिए एक नया मार्ग उत्पन्न करेगा। मेरे मित्र, आनन्दित हो जाएं और उसकी मदद पाएं।
Prayer:
प्रेमी पिता,
 
आपकी प्रतिज्ञा के लिए आपको धन्यवाद। हे प्रभु, आपका मार्ग मुझे बताएं। मैं आपको अपना जीवन समर्पित करता हूं। मेरे आगे जाएं और मेरे आगे के पथ से हर कठिनाई दूर करें। आप मेरे प्रभु और मेरे अगुवे हैं। हे प्रभु मेरा मार्गदर्शक होने के लिए आपको धन्यवाद। अपने प्रतिज्ञा देश की ओर मेरी अगुवाई करें। मुझ पर अनुग्रह करने के लिए आपको धन्यवाद। यीशु के अनमोल नाम में,

मैं प्रार्थना करता हूं, आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000