Loading...
DGS Dhinakaran

पूरे हृदय से करें!

Bro. D.G.S Dhinakaran
09 Sep
हम बाइबल में दाऊद का उदाहरण देखते हैं कि उसने सब कुछ प्रभु की सेवा समझकर किया। दाऊद ने वाद्य प्रवीणता से बजाया क्योंकि उसे इस्राएल के राजा की सेवा करने की बुलाहट थी। जब कभी भी बजाता तब शाऊल में से दुष्टात्मा निकल जाया करती थी और वह शांति हो जाया करता था। दाऊद को सफलता मिली क्योंकि प्रभु उसके साथ था (1 शमूएल 18:14) दाऊद के हर कार्य में प्रभु उसके साथ था तभी तो उसने गोलियात को हराया। उसने जो कुछ किया प्रभु की सेवा समझकर किया। वह अपने हर कार्य में प्रभु से सलाह मांगा करता था। तभी तो वह परमेश्वर के मन के अनुसार किया करता था। (प्रेरितों 13:22)

एक बार परमेश्वर का एक सेवक विदेश से आया और उसने मुझ से पूछा, आप हमेशा प्रार्थना में क्यों रहते हैं? मैं ने उत्तर दिया कि मैं संदेश की तैयारी कर रहा हूं। वह हंसा और उसने अपनी बाइबल को दिखाने के लिए मुझे दी। मैं ने पृष्ठों के बीच में कई संदेशों के नोट्स को रखे हुए देखा। उसने कहा, जब मैं मंच पर जाता हूं तो मैं कहता हूं, प्रभु और बाइबल को खोलता हूं। वहां पर जितने बिंदों होते हैं उनका प्रचार करता हूं। मेरे अतिप्रियो, पवित्रशास्त्र कहता है, ‘‘शापित है वह जो यहोवा का काम आलस्य से करता है;’’ (यिर्मयाह 48:10) इसलिए हम जो कुछ भी करें, प्रभु के चरणों में बाट जोहें, परमेश्वर की महिमा लाने के लिए पूरे मन से करें। (1 कुरिन्थियों 10:31; कुलुस्सुयों 3:24)
‘‘क्योंकि मसीह का प्रेम हमें विवश कर देता है:’’ (2 कुरिन्थियों 5:14) प्रेरित पौलुस ने अपने अनुभव से ऊपर चर्चित वचन को कहा, हमें परमेश्वर की सेवा पूरे मन से करनी चाहिए। यदि हम एक मिनट के लिए भी प्रार्थना करें, तो वह प्रार्थना आपके हृदय की गहराई से होनी चाहिए। तो चाहे बडी भीद भी हो तो आप उनके लिए आंसुओं से प्रार्थना करेंगे। परमेश्वर के भय के साथ हमारे पूरे मन की सेवा ही एक पुत्र की अपने पिता की सच्ची सेवा है। हम जो कुछ भी प्रचार, प्रार्थना या उपवास करते हैं,उसे हमें अपने पूरे मन से करनी चाहिए। प्रभु आपको निश्चय आदर देगा, जब आप परमेश्वर के भय और सच्चे प्रेम के साथ उसकी सेवा करेंगे। (यूहन्ना 12:26)
Prayer:
हे मेरे स्वामी,

मैं आपके पास आपकी खोज में आया हूं कि जो कुछ भी मैं करूं उसमें आपके प्रेम के द्वारा खींचे जाने का अनुग्रह पाऊं। मुझे हमेशा आपकी उपस्थिति का ऐहसास हो और मेरे सभी कामों में आपको यत्न से प्रसन्न करूं। मुझे सच्चाई और सच्चे प्रेम और भयभक्ति के साथ सेवा करूं। मेरी मदद करें कि मैं अपने पूरे मन के साथ आप से प्रेम करूं और कोई भी कार्य छल या कपट से न करूं। यीशु के नाम में, आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000