Loading...
Stella dhinakaran

चुना हुआ!

Sis. Stella Dhinakaran
08 Sep
प्रभु किसको अपनी प्रजा बनाता है? प्रभु ने अपने आप को हमारे लिए दे दिया कि हमें हर प्रकार के अधर्म से छुडा ले, और शुद्ध करके अपने लिए एक ऐसी जाति बना ले जो भले-भले कामों में सरगर्म हो। (तीतुस 2:14; मत्ती 1:21) इस प्रकार वह अपनी प्रजा के लोगों को छुडाए, उनके बीच में वास करे, उन्हें बलवंत करे और उन्हें बहुतायत की आशीषों से अगुवाई करे, ‘‘पर तुम एक चुना हुआ वंश, और राज-पदधारी, याजकों का समाज, और पवित्र लोग, और (परमेश्वर) की निज प्रजा हो, इसलिए कि जिसने तुम्हें अंधकार में से अपनी अद्भुत ज्योति में बुलाया है, उसके गुण प्रगट करो।’’ (1 पतरस 2:9) हम परमेश्वर के चुने हुए लोग हैं। जैसे कि प्राचीनकाल में परमेश्वर ने अब्राहम और उसके वंश को चुन लिया और उन्हें अपने विशेष लोग होने की भिन्नता दिखाई, आज परमेश्वर ने हमें अपने चुने हुए वंश के रूप में चुना है। इस्राएल और अब्राहम के घराने की हर एक आशीष हमारी है।

एक परिवार के सदस्य जो प्रभु को नहीं जानते थे, एक के बाद एक बीमार पडने लगे। उन्होंने अपना पूरा पैसा मेडिकल में खर्च कर दिया परन्तु फिर भी वे ठीक नहीं हुए। इसलिए इस परिवार ने शांति और खुशियां खो दी और नहीं जानते थे कि क्या करें इसलिए वे संघर्ष कर रहे थे। इन परिस्थितियों में एक बहन उन्हें यीशु बुलाता है प्रार्थना भवन ले गई। जो प्रेम प्रार्थना योद्धाओं ने दिखाया और उनके लिए उत्कटता से प्रार्थना की उन्हें बहुत खुशी हुई। उन्होंने यीशु के प्रेम को जाना और परिवार के रूप में अपने जीवनों को उसे सौंप दिया और वे उसकी चुनी हुई प्रजा बन गई। उनकी बीमारियां गायब हो गई और दिव्य प्रेम ने उस परिवार को एक मन कर दिया और वे दिव्य आनन्द के साथ भर गए। 
प्रियजन, इसी तरह प्रभु यीशु भी आपसे प्रेम करता है और आपको अपने चुने हुए बच्चों के रूप में बदलता है। जब आप यीशु के पास आएंगे वह आपको आपकी स्थिति में न छोडेगा। वह आपके हृदय में काम करता है। वह आपकी परिस्थिति को बदलता है। केवल यीशु के द्वारा ही परिवर्तन हो सकता है। वह आपको अपनी संतान बनाता है कि आपको ऊंचे स्थान पर चलाए और आपको समस्याओं से स्वर्तंत्र करे। उसके पास आपकी बीमारियों को चंगा करने और आपको बल देने का सामर्थ है । इसलिए आज से आपको भी उसके बारे में जानने और उसे खोजने की जरूरत है। वह कहता है, ‘‘हे परिश्रम करनेवालों, और बोझ से दबे हुए लोगों मेरे पास आओ, मैं तुम्हें विश्राम दूंगा। मेरा जूआ अपने ऊपर उठा लो, और मुझ से सीखो; क्योंकि मैं नम्र और मन में दीन हूं; और तुम अपने मन में विश्राम पाओगे क्योंकि मेरा जूआ सहज और मेरा बोझ हल्का है।’’ (मत्ती 11:28-30) आपके चाहे कैसी भी समस्याएं हों, आप उसे उसके चरणों में रखें। जिसने आपके लिए क्रूस उठाया क्या वह आपका बोझ नहीं उठाएगा, और आपको सभी जंजीरों से स्वतंत्र करेगा, वह निश्चय करेगा!
Prayer:
प्रभुओं के प्रभु,

मेरे छुटकारे के लिए क्रूस पर खुद का बलिदान किया, उसके लिए मैं आपकी स्तुति करती हूं। क्रूस पर आपने पहले से ही मेरी शारीरिक पीडा को उठा लिया, मैं यीशु के नाम में, प्रार्थना करती हूं कि मुझे छुटकारा दें और मुझे सिद्ध आशीषें दें। मेरे बोझ को उठाएं और मेरे जीवन को सहज करें। इस संसार में मुझे भी अपने चुने हुए के रूप में पहिचान दें, आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000