Loading...
Paul Dhinakaran

प्रार्थनाओं का उत्तर!

Dr. Paul Dhinakaran
01 Aug
मेरे अनमोल मित्र, आपके लिए इस महीने की परमेश्वर की प्रतिज्ञा को लाने में मुझे एक बडा आनन्द प्राप्त होता है। पिछले महीनों के द्वारा प्रभु हमें उठाकर चलाने का अनुग्रह किया। पवित्रशास्त्र कहता है, ‘‘हम मिट नहीं गए; यह यहोवा की महाकरुणा का फल है, क्योंकि उसकी दया अमर है। प्रति भोर वह नई होती रहती है; तेरी सच्चाई महान है।’’ (विलापगीत 3:22,23) ये वचन कितने सच्चे हैं! आइए हम परमेश्वर को उसकी करुणा और सुरक्षा के लिए धन्यवाद करें। अगस्त के महीने की परमेश्वर की प्रतिज्ञा वचन 1 शमूएल 1:17 से लिया गया है, ‘‘कुशल से चली जा; इस्राएल का परमेश्वर तुझे मन चाहा वर दे।’’
 
ये वचन एली महायाजक के द्वारा हन्ना नामक एक स्त्री से कहे गए हैं। उसकी कोई संतान नहीं थी। उसका पति उससे बहुत प्रेम करता था, परन्तु वह गर्भवती नहीं हुई थी। इसलिए उसकी दूसरी पत्नी उसे बहुत सताती थी और उसका मजाक उडाती थी। हन्ना खेदित हुई। जब वह अपने पति के साथ और अपनी सौत के साथ परमेश्वर के मंदिर में परमेश्वर की आज्ञाओं को पूरा करने गई। हन्ना अकेली तम्बू में गई और परमेश्वर की उपस्थिति में अपने हृदय को उण्डेला। वह अपने दुख और अपमान को सहन नहीं कर पा रही थी, फिर उसने अपना मुंह नहीं खोला या जोर से पुकारा। वह अपने हृदय में प्रार्थना कर रही थी, उसके होंठ हिल रहे थी परन्तु उसके मुंह से आवाज नहीं निकल रही थी। बाइबल कहती है, ‘‘मनुष्य तो बाहर का रूप देखता है,परन्तु यहोवा की दृष्टि मन पर रहती है।’’ (1 शमूएल 16:7)
जब वह प्रभु से प्रार्थना कर रही थी, एली उसके मुंह की ओर ताक रहा था, हन्ना मन ही मन कह रही थी, उसके होंठ तो हिलते थे परन्तु उसका शब्द न सुन पडता था, इसलिए एली ने समझा कि वह नशे में है, तब एली ने उसे क्रोधित होकर कहा, ‘‘तू कब तक नशे में रहेगी, हन्ना ने कहा, ‘‘नहीं, हे मेरे प्रभु, मैं तो दुखिया हूं,मैं ने दाखमधु नहीं पिया है, मैं ने अपने मन की बात खोलकर यहोवा से कही है।’’ तब एली महायाजक ने कहा, ‘‘कुशल से चली जा; इस्राएल का परमेश्वर तुझे मन चाहा वर दे।’’(1 शमूएल 1:17) हम इस वचन में परमेश्वर के तीन गुण को देखते हैं। हां, वह एक ऐसा परमेश्वर है जो आपकी प्रार्थनाओं का उत्तर देगा, आप जो कुछ मांगते हैं, उसे वह देता है और आपको कुशल से हर आशीष का आनन्द उठाने का अनुग्रह करता है। यही परमेश्वर इस महीने में आपके लिए करनेवाला है।
Prayer:
प्रेमी पिता, 

इस महीने के आशीषित वचन के लिए आपको धन्यवाद। जैसे कि आप मुझे और मेरे परिवार को आशीष देने जा रहे हैं, हमारी मदद करें कि हम अपने जीवनों में आपके आश्चर्यकर्मों को दूसरों को घोषित कर सकें। इस महीने इस महीने में भी मैं खुद को आपकी इच्छा के लिए समर्पित करता हूं। मुझ पर अनुग्रह करें कि मैं आपकी उपस्थिति में अपनी वाचा को पूरी करूं। इस महीने में मुझ पर आपकी आशीषों के लिए मैं आपको सारी महिमा देता हूं। यीशु के अनमोल नाम में, मैं प्रार्थना करता हूं, आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000