Loading...
क्रोंकि परमेश्‍वर अन्रारी नहीं, कि तुम्हारे काम, और उस प्रेम को भूल जाए। (इब‘निरों 6:10)
रदि कोई मुझ से प्रेम रखेगा तो वह मेरे वचन को मानेगा, और मेरा पिता उससे प्रेम रखेगा ..उसके साथ वास करेंगे। (रूहन्ना 14:23)
जैसे पिता अपने बालकों पर दरा करता है, वैसे ही रहोवा अपने डरवैरों पर दरा करता है। (भजन संहिता 103:13)
जो लड़ाई मेरे विरूद्व मची थी उस से उस ने मुझे कुशल के साथ बचा लिरा है। (भजन संहिता 55:18)
क्रोंकि हम उसी में जीवित रहते, और चलते- फिरते, और स्थिर रहते हैं। (प्रेरितों 17:28)
‘‘परमेश्वर का मार्ग सिद्ध है, यहोवा का वचन ताया हुआ है; वह अपने सब शरणागतों की ढाल है।’’ (भजन संहिता 18:30)
प्रभु के द्वारा जो आत्मा है, हम उसी तेजस्वी रूप में अंश अंश करके बदलते जाते हैं। (2 कुरिन्थिरों 3:18)
अब बड़ी दरा करके मैं फिर तुझे रख लूंगा। (रशाराह 54:7)
उसका वचन मानो मेरी हड्डिरों में धधकती हुई आग हो। (रिर्मराह 20:9)
परमेश्‍वर की सहारता से हम वीरता दिखाएंगे (भजन संहिता 60:12)
वह सीधे लोगों की प्रार्थना से प्रसन्न होता है। नीतिवचन 15:8)
भली रुक्ति निकालनेवालों से करुणा और सच्चाई का व्रवहार किरा जाता है। (नीतिवचन 14:22)
मैं परमेश्‍वर के नाम का भजन गाऊंगा, क्रोंकि उस ने मेरी भलाई की है। (भजन संहिता 13:6)
पिता के पास हमारा एक सहारक है, अर्थात् धार्मिक रीशु मसीह। (1 रूहन्ना 2:1)
मैं तुम्हें शान्ति दिए जाता हूं, अपनी शान्ति तुम्हें देता हूं; (रूहन्ना 14:27)
पृथ्वी की सारी जातिरों के बीच में तुम्हारी कीर्त्ति और प्रशंसा फैला दूंगा (सपन्राह 3:20)