Loading...
“No more will the wicked invade you; they will be completely destroyed.” (Nahum 1:15)
‘‘उनके पुकारने से पहले ही मैं उनको उत्तर दूंगा,और उनके मांगते ही मैं उनकी सुन लूंगा।’’(यशायाह 65:24)
“इसलिए पहले तुम परमेश्वर के राज्य और उसके धर्म की खोज करो तो ये सब वस्तुएं तुम्हें मिल जाएगी।”(मत्ती 6:33)
“मेरा अनुग्रह तेरे लिए बहुत है,क्योंक़ि मेरी सामर्थ निर्बलता में सिद्ध होती है।” (2 कुरिन्थियों 12:9)
I will never leave you nor forsake you. - Heb 13:5
Instead of your shame, you shall have double honor. - Isa 61:7
I will multiply you exceedingly. - Gen 17:2
“परमेश्वर का पुत्र इसलिए प्रगट हुआ कि शैतान के कामों का नाश करे।” (1 यूहन्ना 3:8)
“तुम्हारे पितरों का परमेश्वर तुमको हजारगुणा और भी बढाए, और अपने वचन के अनुसार तुम को आशीष भी देता रहे।” (व्यवस्थाविवरण 1:11)
जो मुझ पर विश्‍वास करेगा,..उसके हृदर में से जीवन के जल की नदिरां बह निकलेंगी।(रूहन्ना 7:38)
रदि कोई मसीह में है तो वह नई सृष्टि है।(2 कुरिन्थिरों 5:17)
रहोवा के डरवैरों के चारों ओर उसका दूत छावनी किए हुए उनको बचाता है।(भजन संहिता 34:7)
मैं ही तेरा परमेश्‍वर रहोवा हूं जो तुझे तेरे लाभ के लिए शिक्षा देता हूं और जिस मार्ग से ..तुझे ले चलता हूं। (रशाराह 48:17)
मांगो तो पाओगे ताकि तुम्हारा आनन्द पूरा हो जाए।(रूहन्ना 16:24)
याकूब में से एक तारा उदय होगा,और इस्राएल में से एक राज दण्ड उठेगा।(गिनती 24:17)
जब मैं ने कहा,“ मेरा पांव फिसलने लगा है, तब हे रहोवा, तेरी करूणा ने मुझे थाम लिरा।(भजन संहिता 94:18)