Loading...
जो आंसू बहाते हुए बोते हैं, वे जयजयकार करते हुए लवने पाएंगे।(भजन संहिता 126:5)