Loading...
DGS Dhinakaran

परमेश्वर आपका दृढ़ गढ़ हैं

Bro. D.G.S Dhinakaran
10 Aug
इस तेज गति से आगे बढ़ती हुई दुनिया मे कई बार, हमारे प्रार्थना के जीवन मे  निरंतरता नही रहती है। जिस घड़ी हम परेशानियो का सामना करते है हमारा सारा ध्यान यीशु से हट कर उस परेशानी की ओर चला जाता है। हम अपनी परेशानियो को अपने परमेश्वर से बड़ा बना देते है। इसलिए, आपको हमेशा प्रार्थना मे बने रहना चाहिए और परमेश्वर के वादों को पकड़े रहना चाहिए। तब वे आपका दृढ़ गढ़ ठहरेंगे। जैसा बाइबल कहती है, "यहोवा मेरी चट्टान, और मेरा गढ़ और मेरा छुड़ाने वाला है; मेरा ईश्वर, मेरी चट्टान है, जिसका मैं शरणागत हूँ, वह मेरी ढ़ाल और मेरी मुक्ति का सींग, और मेरा ऊँचा गढ़ है।" (भजन संहिता 18:2)

मैंने वर्ष 1990 मे अपने  हृदय का आपरेशन करवाया था और कुछ वर्षो के बाद मुझे जाँच के लिए बुलाया गया। डॉक्टर सारी ज़रूरत का यंत्र मेरे घर पर ले आए और उन्होने जाँच की प्रक्रिया आरंभ की। जब वे अपना काम कर रहे थे, मैं अपना काम कर रहा था; अपने चंगा करने वाले यीशु मसीह से प्रार्थना। उस घड़ी मुझे अपनी छाती पर स्वर्गीय स्पर्श का अनुभव हुआ। हाँ! प्रभु हमेशा अपने बच्चो का ध्यान रखते है।
जीवन का वचन

जैसे आप अपना भरोसा परमेश्वर के उपर रखेंगे वे आपको हर परेशानी और शत्रु के हर आक्रमण से बचाएँगे। आपके दुख, बीमारी और परेशानियो के मध्य भी परमेश्वर आप के साथ रहने का वायदा करते है।, "जब वह मुझ को पुकारे, तब मैं उसकी सुनूंगा; संकट में मैं उसके संग रहूंगा, मैं उसको बचा कर उसकी महिमा बढ़ाऊंगा।" (भजन संहिता 91:15) इसलिए, परमेश्वर की ओर देखे और अपनी परेशानियो के लिए उनके वचनो को माँग ले जो हमेशा फलीभूत होते है। जिस प्रकार से प्रेरित पॉल अपने जीवन मे  निडरतापूर्वक परमेश्वर की सुरक्षा की घोषणा करते है उसी प्रकार आप भी करे ।

*यह संदेश वर्ष 2002 मे भाई स्वर्गीय डी. जी. एस. दिनाकरन द्वारा  चेन्नई के एक चर्च मे बाँटा गया था। 
Prayer:
धन्य प्रभु, मैं आपके वचनो के लिए आपका धन्यवाद करता/ करती हूँ जो हमेशा फलीभूत होते है। मैं अपने कठिन समय मे मजबूत बने रहने के लिए आपके अनुग्रह को माँगता/ माँगती हूँ। मैं भरोसा करता/ करती हूँ की आप हमेशा मेरे साथ है और मुझे  नष्ट नही होने देंगे।

यीशु मसीह के नाम से मैं ये प्रार्थना माँगता/ माँगती हूँ। आमीन।

1800 425 7755 / 044-33 999 000