Loading...
हे मेरे मन, यहोवा को धन्य कह, और उसके किसी उपकार को न भूलना। (भजन संहिता 103:2)